(APY Chart) अटल पेंशन योजना आवेदन व अकाउंट स्टेटस (2022 ऑनलाइन)

Atal Pension Scheme आवेदन फॉर्म | APY Online Registration | पीएम अटल पेंशन योजना आवेदन | APY Chart & Benefits | Atal Pension Yojana

अटल पेंशन योजना की शुरुआत हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 1 जून 2015 को की गयी थी | इस योजना के अंतर्गत लाभार्थियों की 60 वर्ष की आयु होने के बाद 1000 रु से लेकर 5000 रु तक की धनराशि पेंशन के रूप में प्रतिमाह दी जाएगी | Atal Pension Yojana के तहत पेंशन की धनराशि लाभार्थियों के द्वारा किये गए निवेश तथा उम्र के हिसाब से निश्चित की जाएगी | अटल पेंशन योजना 2022 में ना केवल आप कम राशि जमा करवाकर हर माह ज्यादा पेंशन के हकदार हो सकते हैं, बल्कि असामयिक मृत्यु की दशा में अपने परिवार को भी इसका फायदा दिलवा सकते हैं | इस योजना के बारे में अधिक जानकारी जैसे अमाउंट चार्ट ,रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया, पात्रता ,जरुरी दस्तावेज़ आदि प्राप्त करने के लिए हमारे इस आर्टिकल को अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़े |

Atal Pension Yojana-APY

इस योजना के तहत आवेदन करने वाले आवेदक को हर महीने प्रीमियम जमा करना होगा | उसके बाद आवेदक की  60 वर्ष की आयु पूरी होने के बाद सरकार द्वारा मासिक पेंशन के रूप में बुढ़ापे में आर्थिक सहायता (Financial assistance will be provided in the form of monthly pension in old age.) प्रदान की जाएगी | Atal Pension Yojana में आवेदन करने के लिए लाभार्थियों की उम्र 18 से 40 वर्ष होनी चाहिए तभी वह इस योजना का लाभ उठा सकते है | अगर कोई लाभार्थी 18 वर्ष की आयु में इस योजना से जुड़ना चाहता है तो उन्हे 210 रूपये का प्रीमियम हर महीने देना होगा तथा जिनकी आयु 40 वर्ष है तो उन्हें 297 से लेकर 1 ,454 रूपये तक का प्रीमियम देना होगा |

71 लाख लाभार्थियों को प्राप्त हो रहा है अटल पेंशन योजना का लाभ

संसद के माध्यम से 8 फरवरी 2022 को यह सूचना प्रदान की गई है कि अटल पेंशन योजना के अंतर्गत 24 जनवरी 2022 तक ग्राहकों की संख्या 71 लाख से अधिक हो गई है। इस योजना को मई 2015 में आरंभ किया गया था जिसका उद्देश्य लाभार्थियों के लिए सर्व भौमिक सामाजिक सुरक्षा प्रणाली बनाना है। इस योजना का संचालन पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकरण द्वारा किया जाता है। वित्तीय वर्ष 2021-22 के दौरान इस योजना के अंतर्गत लाभार्थियों की संख्या 7106743 हो गई है। वित्त वर्ष 2020 में इस योजना के अंतर्गत ग्राहकों की संख्या 6883373 थी। वित्तीय वर्ष 2019 में इस योजना के अंतर्गत ग्राहकों की संख्या 5712824 थी।

इसके अलावा वित्त वर्ष 2018 में इस योजना के अंतर्गत 4821632 लाभार्थी थे एवं वर्ष 2017 में लाभार्थियों की संख्या 2398934 थी। अटल पेंशन योजना के माध्यम से लाभार्थी ₹1000, ₹2000, ₹3000, ₹4000 और ₹5000 प्रति माह तक की पेंशन प्राप्त कर सकते हैं। यह पेंशन 60 वर्ष की आयु के बाद प्राप्त की जा सकती है। यदि अभिदाता की मृत्यु हो जाती है तो इस स्थिति में मृतक के पति या पत्नी को समान पेंशन की गारंटी भी इस योजना के माध्यम से प्रदान की जाती है।

65 लाख से अधिक नागरिकों द्वारा ली गई सदस्यता

अब तक अटल पेंशन योजना के अंतर्गत 65 लाख से अधिक नागरिकों द्वारा सदस्यता ली गई है। जिससे ग्राहकों की संख्या बढ़कर 3.68 करोड़ हो गई है। इस बात की जानकारी वित्त मंत्रालय द्वारा प्रदान की गई है। जिसके कारण वश प्रबंधनाधीन परिसंपत्ति बढ़कर 20000 करोड रुपए हो गई है। कुल ग्राहकों में से 56% पुरुष एवं 44% महिलाएं हैं। इस योजना की सदस्यता भारत के प्रत्येक नागरिक द्वारा 18 से 40 वर्ष की आयु वर्ग में ली जा सकती है। 60 वर्ष की आयु प्राप्त करने पर ₹1000 से ₹5000 तक की न्यूनतम गारंटीकृत पेंशन इस योजना के माध्यम से प्रदान की जाती है। इसके अलावा ग्राहक की मृत्यु हो जाने पर पति या पत्नी को जीवन भर के लिए पेंशन की गारंटी भी प्रदान की जाती है।

पति एवं पत्नी दोनों की मृत्यु होने के पश्चात पेंशन कोष का भुगतान नामांकित व्यक्ति को किया जाता है। इस योजना को 9 मई 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा असंगठित क्षेत्र के नागरिकों को लाभ पहुंचाने के लिए आरंभ किया गया था। पीएफआरडीए के अध्यक्ष द्वारा यह जानकारी प्रदान की गई है कि इस वित्तीय वर्ष के दौरान एक करोड़ नामांकन हासिल करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

Atal Pension Yojana 2022 Highlights

योजना का नामअटल पेंशन योजना
लॉन्च की गयीवर्ष 2015
इनके द्वारा शुरू की गयीकेंद्र सरकार द्वारा
लाभार्थीदेश के असंगठित क्षेत्रो के लोग
उद्देश्यपेंशन प्रदान करना

अटल पेंशन योजना के अंतर्गत निवेश करके पाएं ₹10000 की प्रतिमाह पेंशन

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं अटल पेंशन योजना को वृद्ध नागरिकों को पेंशन प्रदान करने के लिए आरंभ किया गया था। इस योजना के माध्यम से ₹1000 से लेकर ₹5000 की धनराशि पेंशन के रूप में प्रदान की जाती है। यह धनराशि लाभार्थियों द्वारा किए गए निवेश पर प्रदान की जाती है। देश के नागरिक इस योजना के माध्यम से 60 वर्ष की आयु के बाद एक निश्चित पेंशन प्राप्त कर सकेंगे। इस योजना के अंतर्गत पेंशन प्राप्त करने की अधिकतम राशि ₹5000 है। पति और पत्नी दोनों के द्वारा अलग-अलग निवेश करके इस योजना के माध्यम से ₹10000 तक की राशि प्राप्त की जा सकती है। इस बात की जानकारी पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी द्वारा प्रदान की गई है।

इस योजना को असंगठित क्षेत्र के नागरिकों के लिए आरंभ किया गया था। इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए लाभार्थी का बैंक में बचत खाता होना अनिवार्य है। अटल पेंशन योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए पति एवं पत्नी की आयु 18 से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

अटल पेंशन योजना के अंतर्गत कर लाभ

अटल पेंशन योजना को असंगठित क्षेत्र के कर्मचारियों को पेंशन प्रदान करने के लिए आरंभ किया गया था। इस योजना के माध्यम से ₹1000 से लेकर ₹5000 की पेंशन प्रतिमाह 60 वर्ष की आयु पूर्ण होने पर आवेदक के निवेश के अनुसार प्रदान की जाती है। इस योजना के अंतर्गत अब ग्राहकों को कर लाभ भी प्रदान किए जाएंगे। इसकी जानकारी पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी द्वारा ट्वीट के माध्यम से प्रदान की गई है। इस ट्वीट में यह बताया गया है कि वह सभी आयकर दाता जो 18 से 40 वर्ष की आयु के भीतर आते हैं वह इस योजना का लाभ उठा सकते हैं और इसी के साथ आयकर अधिनियम के सेक्शन 80CCD (1b) के अंतर्गत इस योजना में किए गए योगदान पर भी लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए ग्राहक का सेविंग बैंक अकाउंट या पोस्ट ऑफिस सेविंग अकाउंट होना अनिवार्य है। अटल पेंशन योजना को आधार एक्ट के सेक्शन 7 में भी शामिल कर लिया गया है। वह सभी नागरिक जो इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं उनको अपनी आधार संख्या का प्रमाण प्रस्तुत करना होगा या फिर आधार प्रमाणीकरण के अंतर्गत नामांकन से गुजरना होगा।

अटल पेंशन योजना में अंशधारकों के आंकड़े हुए तीन करोड़ से अधिक

जैसे की सभी लोग जानते है कि केंद्र सरकार कि यह योजना देश के 60 वर्ष से अधिक आयु के वृद्धजनों को आर्थिक सहायता के रूप में प्रतिमाह पेंशन प्रदान कर रही है। पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने 22 अप्रैल 2021 को  यह बताया है कि  अटल पेंशन योजना के अंतर्गत वित् वर्ष 2020 -2021 में अब तक 3 करोड़ से अधिक सब्सक्राइबर को जोड़ा गया है और उन्होंने यह भी कहा है कि वित् वर्ष 2020 -21 में  इस योजना के तहत लगभग 79 लाख से अधिक नए अंशधारकों को जोड़ा गया है। अटल पेंशन योजना में अंशधारकों के आंकड़े तीन करोड़ से अधिक  हो चुके है। 

  • Atal Pension Yojana के अंतर्गत जुड़े 3.2 करोड़ खातेधारकों में से 70 % खाते सार्वजानिक इलाको के बैंको के द्वारा खोले गए है और बाकि 19 % खाते ग्रामीण इलाको के बैंक द्वारा खोले गए है। इन  6 महीनो में इस योजना के अंतर्गत जुड़ने वाले खातेधारकों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है।
  • पिछले वित् वर्ष में  इस योजना के अंतर्गत लगभग 79.14 लाख नए सब्सक्राइबर जोड़े गए थे जिनमे से  28 % यानी 22.07 लाख सब्सक्राइबर भारतीय स्टेट बैंक द्वारा जोड़े गए और साथ ही  केनरा बैंक ने लगभग 5.89 लाख  नए सब्सक्राइबर और इंडियन बैंक ने 5.17 लाख नए सब्सक्राइबर जोड़े थे। 

खाताधारकों की संख्या में हुई बढ़ोतरी

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं अटल पेंशन योजना को असंगठित क्षेत्र के कामगारों को रिटायरमेंट के बाद पेंशन प्रदान करने के उद्देश्य से आरंभ किया गया है। इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी को एक निर्धारित समय तक निवेश करना होता है। 60 वर्ष की आयु के बाद निवेशक को प्रतिमाह पेंशन प्रदान की जाती है। पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया द्वारा यह बताया गया है कि सन 2020–21 में अटल पेंशन योजना एवं नेशनल पेंशन सिस्टम के खाताधारकों की संख्या में 23% की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। 31 मार्च 2021 तक कुल खाताधारकों की संख्या बढ़कर 4.24 करोड़ हो गई है।

  • पीएफआरडीए के चेयरमैन सुप्रतिम बंद्योपाध्याय द्वारा बताया गया है कि पिछला वर्ष कोविड-19 संक्रमण के दौरान हुए लॉकडाउन की वजह से बहुत चुनौतीपूर्ण रहा है और देश के नागरिकों को कई दिक्कतों का सामना करना पड़ा है लेकिन फिर भी APY तथा NPS खाताधारकों की संख्या में 23% की बढ़ोतरी हुई है।
  • Atal Pension Yojana में लगभग 33% ग्राहकों की बढ़ोतरी हुई है और लगभग 7700000 नए ग्राहक इस योजना से जुड़े हैं। 31 मार्च 2021 तक कुल खाताधारको की संख्या 2.8 करोड़ हो गई हैं। वित्त वर्ष 2020–21 में प्रबंधन के तहत कुल परिसंपत्ति 5.78 लाख करोड़ रुपए हो गई है।

अटल पेंशन योजना लेनदेन की डिटेल

आप सभी लोग जानते हैं Atal Pension Yojana को असंगठित क्षेत्रों के नागरिकों के लिए आरंभ की गई थी। यह एक रिटायरमेंट पेंशन योजना है। इस योजना के अंतर्गत लाभार्थियों को प्रीमियम का भुगतान करना होता है। अब सरकार द्वारा अटल पेंशन योजना मोबाइल एप्लीकेशन आरंभ की गई है। इस मोबाइल एप्लीकेशन के माध्यम से अब अटल पेंशन योजना के लाभार्थी हाल के पांच योग दानों की जांच निशुल्क कर सकते हैं। इसी के साथ लेन-देन डिटेल तथा ई PRAN भी डाउनलोड किया जा सकता है। अपनी लेनदेन की डिटेल देखने के लिए लाभार्थी अटल पेंशन योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर भी जा सकते हैं। इस वेबसाइट पर जाकर उन्हें लॉग इन करना होगा। जिसके लिए उन्हें अपने PRAN और बचत बैंक खाते की डिटेल देनी होगी। यदि PRAN नंबर नहीं है तो लाभार्थी अपने नाम, खाता तथा जन्म तिथि के माध्यम से भी अपना अकाउंट लॉगिन कर सकता है।

 इस योजना के अंतर्गत आयकर अधिनियम 1961 की धारा 80CCD(1) के अंतर्गत कर लाभ का भी प्रावधान है। उमंग ऐप के माध्यम से अटल पेंशन योजना के अंतर्गत लेनदेन की राशि, सदस्य राशि की कुल होल्डिंग, लेनदेन डिटेल आदि भी देखी जा सकती है।

अटल पेंशन योजना 52 लाख नए सब्सक्राइबर

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं अटल पेंशन योजना के अंतर्गत 60 वर्ष की आयु पूर्ण होने पर निवेशक को पेंशन प्रदान की जाती है। अटल पेंशन योजना के तहत लोगों की रूचि साल दर साल बढ़ती जा रही है। इस योजना के अंतर्गत कोविड-19 महामारी हिट वर्ष में भी शानदार नामांकन देखा गया है। इस नामांकन को देखते हुए यह निष्कर्ष निकाला जा सकता है कि अब आम आदमी बचत योजनाओं को लेकर ज्यादा चिंतित हो गया है और अपने भविष्य की सुरक्षा का महत्व समझ रहा है। 2020-21 के दौरान अब तक 52 लाख नए निवेशकों ने Atal Pension Yojana के अंतर्गत अपना पंजीकरण कराया है। जिसके तहत कुल नामांकन 31 दिसंबर 2020 तक 2.75 करोड़ को पार कर गया है।

This is Official Website Of APY – Click Here